Items filtered by date: Thursday, 11 January 2018
आवाज़(विशाल चौधरी, कैथल): अखिल भारतीय कांग्रेस मीडिया प्रभारी व मौजूदा विधायक रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बुधवार को अर्थशास्त्रिों के साथ होने वाली बैठक से पहले अर्थव्यवस्था को लेकर उन पर निशाना साधा है। सुरजेवाला ने अपने ट्विटर वॉल पर लिखा है कि पिछले 4 सालों के जीडीपी दर को देखा जाए तो मोदी सरकार के सकल आर्थिक कुप्रबंधन और भारत की गिरती अर्थव्यवस्था का पता चलता है। सुरजेवाला ने जीवीए (योजित सकल मूल्य) यानि कि देश के कुल सामानों और सेवाओं का कुल मूल्य का आंकड़ा प्रस्तुत करते हुए कहा है कि इसमें भी गिरावट दर्ज़ किया गया है।
 
इसके बाद सुरजेवाला ने एक सवाल किया है। उन्होंने पूछा है कि क्या प्रधानमंत्री मोदी ने कभी अर्थशास्त्रियों की सलाह सुनी भी है। इसके साथ ही उत्तर देते हुए सुरजेवाला ने लिखा है ‘मोदी के अर्थशास्त्र’ को किसी के सलाह की ज़रूरत नहीं है। वहीं किसानों के लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए लिखा, ‘मोदी सरकार ने किसानों के साथ भी झूठा वादा किया। उन्हें कुल किसानों को उनकी फसल की लागत पर 50 प्रतिशत मुनाफा देने का वादा किया गया था लेकिन आज किसान सड़क पर फसल फेकने को मजबूर हैं।’ सुरजेवाला ने आगे मेक इन इंडिया पर तंज करते हुए लिखा, “विनिर्माण में जिस तरह से गिरावट आई है उससे लगता है कि मेक इन इंडिया अब ‘फेक इन इंडिया’ बन गया है।”
 
उन्होंने डाटा रखते हुए लिखा, ‘पिछले 15 महीने के दौरान रिटेल में गिरावट सबसे ऊंचे स्तर पर है। देश में होने वाले नए निवेश का स्तर गिरकर पिछले 13 सालों के मुक़ाबले सबसे नीचे चला गया है। राजकोषीय घाटा चिंता का विषय है, बैंक का कर्ज़ बढ़कर 63 सालों के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया है और रोज़गार पर तो बात ही मत कीजिए, क्यों मोदी जी? वहीं मंगलवार को देहरादून बीजेपी ऑफ़िस में एक व्यवसायी द्वारा ज़हर खाकर आत्महत्या करने के मामले में पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए सुरजेवाला ने लिखा कि प्रकाश पांडे ने ज़हर खाकर हत्या नहीं की बल्कि पीएम द्वारा नोटबंदी और जीएसटी के ज़रिए मचाई गई तबाही ने उसका गला घोंटा है
Published in हरियाणा

आवाज़(मुकेश शर्मा, गुरुग्राम): पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने चंडीगढ़ में एक युवती का पीछा करने के मामले में हरियाणा भाजपा प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास बराला को जमानत दे दी है. अदालत का यह फैसला केस की पीड़ित वर्णिका कुंडू के साथ क्रॉस एग्जामिनेशन के बाद आया है. सोमवार (8 जनवरी) को विकास बराला के वकील ने चंडीगढ़ जिला अदालत में 5 घंटे तक वर्णिका कुंडू के साथ सवाल-जवाब किये थे. बचाव पक्ष के वकील ने वर्णिका के कॉल डिटेल में तकनीकी खामियों के आधार पर उसके दावे को गलत साबित करने की कोशिश की थी. लेकिन वर्णिका अपने दावे पर टिकी रही. इस दौरान वर्णिका ने उस खौफनाक रात की पूरी कहानी अदालत के सामने दोहराई. इसके अलावा सोमवार को वर्णिका ने बचाव पक्ष की उन सारी दलीलों को खारिज कर दिया कि उनके पिता वी एस कुंडू, जो कि हरियाणा कैडर के एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी हैं, ने पुलिस पर लगातार दवाब बनाया और सबूतों से छेड़छाड़ कर विकास और उसके दोस्त आशीष को फंसाने को कहा.

वर्णिका ने पूछताछ के दौरान बचाव पक्ष के उस दलील को भी बकवास करार दिया, जिसमें कहा गया था कि वर्णिका के पिता वीएस कुंडू या वकील राजदीप टकोरिया हरियाणा के पूर्व मुख्यमत्री भूपिन्दर सिंह हुड्डा के साथ लगातार संपर्क में थे. बचाव पक्ष ने यह भी आरोप लगाया था कि वर्णिका को उसके पिता और वकील ने मजिस्ट्रेट के सामने सीपीसी की धारा 164 के तहत बयान देने के वक्त गलत तथ्य बोलने को कहा था, लेकिन वर्णिका ने इन सारे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया.

गौरतलब है कि  वर्णिका कुंडू ने आरोप लगाया था कि पिछले साल चार अगस्त को विकास और आशीष वर्णिका की कार का पीछा कर उसे रोकने की कोशिश की थी. वर्णिका का कहना था कि 3 अगस्त को उसके कार की गाड़ी की चाबी टूट गई थी. इसके बाद वह सेक्टर-8 में गाड़ी छोड़कर चलीं गई. जब अगली रात को वह 11.15 pm पर गाड़ी लेने सेक्टर 8 पहुंची तो उनके साथ ये घटना हुई थी.(सौजन्य:जनसत्ता डॉट कॉम)

 

Published in हरियाणा