बीजेपी उम्मीदवार पर लगा रेप का आरोप, 32 साल से कर रहा था रेप! Featured

06 Oct 2017
4987 times

आवाज़ ब्यूरो(मुंबई): पंजाब के गुरदासपुर में सांसद विनोद खन्ना के  निधन के बाद उप चुनाव होने हैं. जिसके लिए बीजेपी और कांग्रेस ने दोनों ने कमर कस ली है. एक को मोदी लहर का सहर अहै तो दूसरा पंजाब में अपनी सरकार के बूते कुछ कर गुजरने की बात कह रहा है. दोनों को लगता है कि जनता उसके साथ है. लेकिन अब जब सब कुछ ठीक चल रहा था तो मामले में एक ट्विस्ट आया है. यहाँ बीजेपी के लिए एक बुरी खबर आ रही है, जिससे भाजपा को उपचुनाव से पहले तगड़ा झटका झटका लगा है. यहाँ से पार्टी के उम्मीदवार और मशहूर उद्योगपति  श्रवण सलारिया पर एक महिला ने रेप का आरोप लगाया गया है. महिला का कहना है कि नेता पिछले 32 साल से उसका शारीरिक शोषण कर रहा था. महिला ने श्रवण सलारिया के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाते हुए कहा कि श्रवण सलारिया उसे शादी का झांसा देकर उसके साथ 32 साल से रेप कर रहा था. शुरुआत में श्रवण सलारिया ने उसे पीजी में रखा और उसके बाद उसे रहने के लिए एक फ्लैट दे दिया. महिला ने श्रवण सलारिया के साथ अपनी अतंरंग पलों की तस्वीरें भी सार्वजनिक कर दी हैं. अब ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. महिला का दावा है श्रवण सलारिया साल 1982 से 2014 तक शादी करने का झांसा देकर उसका शारीरिक शोषण करता रहा. फिर साल 2014 में महिला से शादी करने से इनकार कर दिया.

गौरतलब है कि भाजपा के गुरदासपुर लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार श्रवण सलारिया पेशे से बिजनेसमैन हैं और मुबंई में रहते हैं. उन्होंने महिला द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया है. सलारिया का कहना है कि महिला उसकी छवि खराब करना चाहती है. वहीं  दूसरी तरफ कांग्रेस ऐसे मौके को भुनाने में कहाँ पीछे रहने वाली थी. वो भी इस मुद्दे को लेकर चुनाव आयोग पहुंच गई.चुनाव आयोग से कांग्रेस ने सलारिया का नामांकन रद्द करने की मांग की है. कांग्रेस नेता और पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने आरोप लगाया कि नामांकन दाखिल करते हुए भाजपा और सलारिया ने उसके खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों की जानकारी छुपाई है. कांग्रेस ने साथ ही दावा  किया कि मुंबई में दर्ज इस मामले के बारे में भी नामांकन पत्र में सलारिया ने जानकारी नहीं दी है. बताया जा रहा कि यह केस साल 2014 में महिला की शिकायत पर दर्ज किया गया था.

जिस तरह से चुनाव के ठीक पहले बीजेपी उम्मीदवार के बारे में ऐसी जानकारी सामने आई है वो निश्चित तौर पर बीजेपी के लिए बड़ा झटका है,और कांग्रेस इस मुद्दे  को भुनाने  में कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रही. कांग्रेस का कहना है कि एक तरफ तो प्रधानमंत्री मोदी सभी अपनी पार्टी की साफ़ छवि की दुहाई देते हैं और दूसरी तरफ ऐसे उम्मीदवारों को टिकेट देते हैं जिनपर इस तरह के घिनोने आरोप हैं. अब सच्चाई क्या है ये तो आने वाले वक़्त में साफ़ हो ही जायेगा लेकिन भाजपा के उम्मीदवार पर इलेक्शन से ठीक पहले इस तरह के आरोप लगना वाकई किसी सदमे से कम नहीं.ईनपुट:जनसत्ता)

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User