हिमाचल में BJP को झटका, सत्ता तो मिली लेकिन कमांडर धूमल हारे, नड्डा या फिर जय राम ठाकुर बन सकते हैं सीएम.....

18 Dec 2017
554 times

आवाज़(मुकेश शर्मा, दिल्ली): हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने बहुमत का आंकडा छू लिया है और वो एक अछि जीत दर्ज करने के लिए अग्रसर है. लेकिन बीजेपी के लिए हिमाचल में सबसे बुरी खबर ये आई है कि उनके कमांडर यानी की सेनापति और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल ही चुनाव हार गये हैं. सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र से उन्हें उनके ही एक समय रहे शिष्य राजिंदर राणा ने शिकस्त दी. जिस से हिमाचल बीजेपी के सामने एक धर्मसंकट पैदा हो गया है क्योंकि उन्होंने चुनाव से ठीक पहले प्रेम कुमार धूमल को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया था. 

धूमल की हार और सीएम के नाम पर बीजेपी  राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि हम लोगों की भावना का सम्मान करते हैं. आज पार्टी की बोर्ड मीटिंग में फैसला लिया जाएगा. वहीं हार के बाद प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि उनकी व्यक्त‍िगत हार मायने नहीं रखती है, पार्टी की जीत ज्यादा महत्वपूर्ण जीत है. धूमल ने कहा कि हार जीत जिंदगी का हिस्सा है. हम आत्मचिंतन करेंगे. किसी को दोष देने का कोई फायदा नहीं होगा.

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश की सभी 68 विधानसभा सीटों के रुझानों में तस्वीर लगभग साफ हो चुकी है और राज्य में बीजेपी की सरकार बन रही है. हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर सीट खो चुके हैं. ऐसे में अब बीजेपी को प्रेम कुमार धूमल की सुजानपुर सीट पर हुई हार के बाद अब सीएम पद के लिए कोई दूसरा नाम लाना होगा. वहीँ अगर चुनाव परिणाम को गौर से देखें तो भले ही बीजेपी ने हिमाचल में कमल खिला दिया हो लेकिन हिमाचल भाजपा के कई दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा है.जिनमे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और तीन बार से विधायक सतपाल सिंह सत्ती का नाम भी शामिल है. वो भी ऊना विधानसभा सीट से चुनाव हार गए हैं. कांग्रेस उम्मीदवार सतपाल सिंह रायजादा ने उन्हें 3196 वोट से हराया.

नड्डा या जयराम ठाकुर में से कोई बन सकता है मुख्यमंत्री?

बीजेपी के लिए हिमाचल में प्रेम कुमार धूमल की हार के बाद अब ये यक्ष प्रशन बन गया है की आखिर अब नया मुख्यमंत्री किसको बनाया जाए. ऐसे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा बीजेपी की दूसरी पसंद बन सकते हैं. गौरतलब है कि नड्डा को हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पसंद के तौर पर देखा जा रहा था. लेकिन ऐन वक्त पर प्रेम कुमार धूमल को सीएम पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया गया. धूमल के नाम के ऐलान से सबसे ज्यादा झटका जेपी नड्डा खेमे को ही लगा था. बीजेपी आलाकमान जिस तरह से पिछले दो साल से नड्डा को राज्य में प्रोजेक्ट कर रहा था और उन्हें जिम्मेदारियां दे रहा था, उसे देखते हुए नड्डा समर्थक अपने नेता को सीएम पद का स्वाभाविक उम्मीदवार मान रहे थे पर सियासी समीकरण को देखते हुए धूमल को चुनाव के मैदान में उतार दिया गया.

वहीँ इस दौड़ में जिला मंडी से आने वाले बीजेपी के दिग्गज़ नेता जयराम ठाकुर का नाम शामिल है. सूत्रों की मानें तो अगर मौजूदा विधायकों से ही किसी को मुख्यमंत्री बनाना है तो ऐसे जयराम ठाकुर बीजेपी की पहली पसंद बन सकते हैं. पार्टी हाई कमान ने उन्हें दिल्ली तलब भी कर लिया है. ऐसे में जयराम ठाकुर भी बीजेपी के अगले मुख्यमंत्री हो सकते हैं क्योंकि एक तो वो राजपूत समुदाय से आते हैं और हिमाचल की राजनीति की दशा और दिशा तय में राजपूत समुदाय सबसे अहम्ब भूमिका निभाता है. राज्य में सबसे ज्यादा करीब 37 फीसदी राजपूत मतदाता हैं. 18 फीसदी ब्राह्मण इसके बाद आते हैं. साथ ही वो पार्टी के एकमात्र ऐसे नेता हैं जिनके नाम पर सर्व सहमती बन सकती है. म्रिदुभास्शी ठाकुर हरेक गुट के लाडले माने जाते हैं. ऐसे में जयराम ठाकुर भी हिमाचल के नए मुख्यमंत्री हो सकते हैं.

 

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User