हरियाणा: क्या हरियाणा कांग्रेस के छुपे रुस्तम साबित होने वाले हैं कुलदीप बिश्नोई? Featured

आवाज़(मुकेश शर्मा, दिल्ली): जब से कुलदीप बिश्नोई कांग्रेस में वापिस आये हैं तब से ये कयास लगाये जा रहे हैं कि वो हरियाणा कि राजनीति में कोई अहम रोले अदा करेंगे. पिछले काफ़ी समय से गांधी परिवार से भी उनकी नजदीकियां दिखीं और उन्होंने कई मौकों पर जाकर गांधी परिवार से मुलाकात की. वो उनके हर सुख-दुःख में सरीक हुए.जब सोनिया गांधी बीमार हुईं तो हरियाणा से वो एक ऐसे नेता थे जो उनसे मुलाकात करने पहुंचे और उनका कुशलक्षेम जाना. तब इस सम्भावना को और बल मिला कि कुलदीप को इन नजदीकियों का फायदा मिलेगा और उन्हें कोई अहम जिम्मेवारी सौंपी जा सकती है. लेकिन प्रदेश में कांग्रेस कि बात करें तो ये साफतौर पर दो गुटों में ही बनती नजर आई. जिसमे हुड्डा और तंवर खेमा आपसी खींचतान में लगा रहा. फिर राहुल गांधी ने संगठन में यथास्थिति बनाकर जहाँ तंवर खेमे को संजीवनी प्रदान कर दी वहीँ हुड्डा खेमा अब भी इस उम्मीद में हैं कि जल्द ही राहुल पार्टी और संगठन में फेरबदल करेंगे और कमान उनके हाथों में सौंपी जा सकती है. इस सब के बीच कुलदीप ज्यादातर चुप रहे और इसी ख़ामोशी के बीच अपना काम करते रहे.

अब हालात बदले-बदले नजर आ रहे हैं. लड़ाई अब भी तंवर और हुड्डा खेमे के बीच ही है लेकिन इस सब के बीच कुलदीप सबके लिए ख़ास बनते जा रहे हैं. इसका एक उदहारण तब देखने को मिला जब चौधरी भूपिंदर सिंह हुड्डा के सांसद सुपुत्र दीपेंदर सिंह हुड्डा अचानक से कुलदीप बिश्नोई के बड़े भाई चन्द्र मोहन बिश्नोई के घर मुलाकात करने पहुंचे और दोनों के बीच बंद कमरे में लगभग 45 मिनट तक चर्चा हुई.

जानकारों कि मानें तो यही वो क्षण था जिसने हरियाणा कांग्रेस में कुलदीप के बढ़ते कद को साबित किया. दीपेन्द्र के चंदर मोहन से मुलाकात करना अपने आप में काफ़ी कुछ कहता है. कई लोगों ने इतना तक कहा कि कुलदीप और हुड्डा ने तंवर खेमे को परस्त करने के लिए आपस में हाथ मिला लिया है क्योंकि भूपिंदर सिंह हुड्डा पिछले काफ़ी समय से तंवर को पछाड़ने कि कोशिश कर रहे हैं लेकिन हर बार नाकाम साबित हो रहे हैं ऐसे में वो कुलदीप के साथ हाथ मिलाकर तंवर को परस्त करने के चक्कर में हैं. यानी ये कहा जा सकता है कि हुड्डा और कुलदीप मिलकर तंवर कि राजनीति से पार पाएंगे और हरियाणा कांग्रेस के तख्तोताज़ पर काबिज़ होंगे. लेकिन सवाल ये पैदा होता है कि कुलदीप इस सब में हुड्डा का साथ क्यों देंगे? क्योंकि मुझे आज भी याद है कि जब मैंने एक चैनल के लिए भिवानी में कुलदीप बिश्नोई का इंटरव्यू किया था और तब कुलदीप बिश्नोई हजकां प्रमुख थे तो उन्होंने साफ़ तौर पर हुड्डा पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था और कहा था कि वो हुड्डा को मुख्यमंत्री के पद से उखाड़ फेंकेंगे. तो क्या माना जाए कि कभी एक-दुसरे के धुरविरोधी रहे हुड्डा और कुलदीप आज एक साथ हो गये हैं? और अगर हो गये हैं तो इसमें कुलदीप का क्या फायदा है? और ऐसा कहा भी जाता है कि  राजनीति में कोई भी परमानेंट दोस्त या दुश्मन नहीं होता. जानकार भी ऐसा ही कह रहे हैं कि कल तक के जो दुश्मन थे वो आज एक हो गये हैं. लेकिन सवाल फिर से वही है कि हुड्डा तो कुलदीप का सहारा लेकर शायद तंवर खेमे को परस्त करने में कामयाब हो जायेंगे और हो भी सकता है कि हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष पद पर काबिज़ हो जायेंगे लेकिन कुलदीप इस सब में हुड्डा का साथ क्यों देंगे?

सूत्र बताते हैं कि हुड्डा और कुलदीप में इसके बारे में डील हो गयी है. कुलदीप को केंद्र कि राजनीति में भेजा जा सकता है जिसमें हुड्डा खेमा उनका साथ देगा और अगर अगले चुनाव में हुड्डा सत्ता में वापसी करते हैं तो फिर से चन्द्र मोहन को उप-मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है. इसी डील के मद्देनजर दोनों मिलकर काम करेंगे. लेकिन सवाल फिर वहीँ का वहीँ आकर खड़ा हो जाता है कि केंद्र कि राजनीति में कुलदीप क्या करेंगे? सत्ता का सुख तो फिर से हुड्डा ही भोगेंगे और चन्द्र मोहन उप-मुख्यमंत्री होकर भी हुड्डा के ही इशारों पर नाचेंगे. तो फिर कुलदीप को इस सब के बीच क्या फायदा हुआ? मतलब दलील कुछ ख़ास गले नहीं उतर रही. 

मतलब साफ़ है कि कुलदीप राजनीति के एक मंझे हुए खिलाड़ी कि तरह अपना दांव खेल रहे हैं और वो इस सब में न तो कोई जल्दबाजी दिखाना चाहते हैं और न ही ऐसा कोई कदम उठाना चाहते हैं जिससे पार्टी हाई कमान में उनकी तरफ से कोई गलत मेसेज जाए. जैसा कि तंवर और हुड्डा खेमे कि तरफ से अक्सर जाता रहा है. जब भी दोनों एक दूसरे के सामने आये हैं तो कांग्रेस की मजबूती के बजाये फजीयत ही हुई है. इतना ही नहीं कई बार तो दोनों खेमों में इस तरह से झड़प हुई कि एक दूसरे के सर तक फूट गये. कुलदीप ने अपने को अभी तक सिर्फ अपने क्षेत्र तक ही सीमित रखा है और वो किसी भी खेमे का हिस्सा बनने से कतरा रहे हैं. वो जब भी मीडिया से भी रु-ब-रु हुए हैं तो सिर्फ उन्होंने हरियाणा में कांग्रेस कि मजबूती कि ही बात की है. इसके अलावा वो गुटबाजी जैसे सवालों से बचते ही नजर आये हैं. कई लोगों ने तो बड़बोले कुलदीप का इस तरह के सवालों से बचने पर हैरानी भी जताई थी कि कुलदीप क्यों किसी पर कोई ऊँगली नहीं उठा रहे हैं. लेकिन राजनितिक पंडितों कि मानें तो कुलदीप इस बार बदले-बदले नजर आ रहे हैं. अपनी पिछली गलतियों से सबक लेते हुए कुलदीप ऐसा कुछ भी नहीं करना चाहते जो पार्टी आलाकमान के आगे उनके प्रति संदेह पैदा करे.

यानी कुलदीप पूरी तरह से राजनीतिज्ञ बन चुके हैं, और एक मंझे हुए राजनीतिज्ञ कि तरह अपनी एक-एक चाल चल रहे हैं. राजनितिक पंडितों कि मानें तो कुलदीप कि नज़र मछली कि आँख पर है. अब राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बन चुके हैं और सबको मालूम है कि राहुल अपने करीबी लोगों को संगठन में तरजीह देंगे. ऐसे में कुलदीप वो ये भली भाँती मालूम है कि हरियाणा में उन्हें चुप-चाप अपना काम करना है और बिना किसी खेमेबाजी के आगे बढ़ना है. हालांकि उन्हें ये मालूम है कि तंवर भी टीम राहुल का ही हिस्सा हैं लेकिन उनकी और हुड्डा कि लड़ाई का सीधा फायदा कुलदीप को ही होगा. और वैसे भी कुलदीप को हुड्डा और तंवर ग्रुप कि कम जरूरत है जबकि इन दोनों को कुलदीप की ज्यादा. ऐसे में कुलदीप कि पहली निगाह हरियाणा कांग्रेस का अध्यक्ष पद है और बाद में मुख्यमंत्री पद. उन्हें ये अच्छी  तरह पता है कि बीजेपी हरियाणा में अगर सत्ता में काबिज़ है तो उसमे गैर जाट वोट बैंक ने बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी. ऐसे में कांग्रेस आलाकमान की रणनीति बीजेपी को सत्ता से हटाने के लिए गैर जाट  वोट बैंक पर केन्द्रित रहेगी. ऐसे में कुलदीप कांग्रेस के लिए तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं. क्योंकि सूबे में गैर जाट अगर कोई सबसे बड़ा चेहरा है तो वो कुलदीप बिश्नोई ही है. उनके पिता भजन लाल इस वोट बैंक के सूत्रधार थे और आज भी सूबे में ऐसे अनगिनित लोग हैं जो इस परिवार में आस्था रखते हैं और कुलदीप बिश्नोई उन सब के एकमात्र नेता हैं. कुलदीप इसी रणनीति पर अपना धयान केन्द्रित कर आगे बढ़ रहे हैं और उन्हें पता है इसका फायदा उन्हें देर-सवेर मिलना ही है.

अब बात हुड्डा और कुलदीप कि डील कि कर लेते हैं. हालांकि इसकी उम्मीद बहुत कम है लेकिन फिर भी अगर कुलदीप और हुड्डा के बीच में डील होती है तो सिर्फ एक ही बात को लेकर हो सकती है कि हुड्डा खेमा कुलदीप बिश्नोई को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद पर विराजमान करने के लिए राज़ी हो जाए. जिसकी सम्भावना अब दीपेन्द्र हुड्डा और चंद्रमोहन बिश्नोई कि मुलाकात के बाद बनने लगी है. साथ ही समझौता इस बात को लेकर भी होगा कि दोनों साथ मिलकर काम करेंगे और अगर चुनाव के बाद पार्टी  जाट चेहरे को सूबे का प्रतिनिधित्व देती है तो हुड्डा प्रदेश कि कमान संभालेंगे और अगर गैर जाट को प्रतिनिधित्व मिलता है तो हुड्डा खेमा कुलदीप बिश्नोई का साथ देकर उन्हें सत्ता कर काबिज़ होने में मदद करेगा. यानी अगर हुड्डा मुख्यमंत्री बनते हैं तो चंद्रमोहन बिश्नोई उप-मुख्यमंत्री और कुलदीप मुख्यमंत्री बनते हैं तो फिर दीपेन्द्र हुड्डा उप-मुख्यमंत्री बन सकते हैं.

राजनितिक पंडितों के मुताबिक अब कुलदीप जल्द ही नये अंदाज़ में नयी भूमिका के साथ नजर आ सकते हैं. लेकिन जिम्मेवारी बड़ी होगी तो फिर आगे बढ़ने में दिक्कतें भी उतनी ही आएँगी. एक तरफ कांग्रेस कि गुटबाजी से पार पाना है साथ ही अपने ही विरोधियों को साथ लेकर भी चलना है. मतलब लड़ाई पहले तो अपने घर में लड़नी है फिर उसके बाद बीजेपी से. इस सब में वो कितने कामयाब हो पाते हैं ये तो वक़्त ही बतायेगा लेकिन इतना साफ़ है कि हरियाणा कि राजनीति में कुलदीप आगे बढ़ रहे हैं जिसका आभास बीजेपी के साथ साथ उनके अपने सहयोगियों को भी हो चला है.

Rate this item
(3 votes)

Latest from Super User

29 comments

  • michael kors outlet
    michael kors outlet Monday, 19 February 2018 02:10 Comment Link

    There are certainly a number of details like that to take into consideration. That may be a great point to convey up. I supply the thoughts above as basic inspiration however clearly there are questions like the one you bring up the place the most important factor can be working in honest good faith. I don?t know if finest practices have emerged around things like that, however I am positive that your job is clearly identified as a fair game. Each boys and girls feel the impression of just a second抯 pleasure, for the rest of their lives.

  • lebron 14
    lebron 14 Sunday, 18 February 2018 01:56 Comment Link

    Nice post. I be taught one thing tougher on totally different blogs everyday. It'll always be stimulating to read content material from other writers and observe a bit of one thing from their store. I抎 prefer to make use of some with the content material on my blog whether you don抰 mind. Natually I抣l give you a hyperlink in your web blog. Thanks for sharing.

  • hermes belt
    hermes belt Saturday, 17 February 2018 04:39 Comment Link

    I discovered your weblog website on google and examine just a few of your early posts. Proceed to maintain up the excellent operate. I just additional up your RSS feed to my MSN News Reader. Looking for forward to studying extra from you later on!?

  • adidas ultra boost
    adidas ultra boost Friday, 16 February 2018 14:03 Comment Link

    I wanted to send you this very small remark to help say thank you again with the fantastic strategies you have documented above. It's strangely open-handed with you to grant easily what exactly a number of people would have distributed as an e book to help make some money for their own end, primarily considering the fact that you could have tried it if you ever decided. These pointers likewise worked like the great way to be aware that other people have the same zeal like my own to know the truth more and more with reference to this matter. I am certain there are several more enjoyable instances ahead for individuals that scan your blog.

  • jordan retro
    jordan retro Friday, 16 February 2018 07:59 Comment Link

    A powerful share, I just given this onto a colleague who was doing a little bit analysis on this. And he the truth is purchased me breakfast as a result of I found it for him.. smile. So let me reword that: Thnx for the treat! But yeah Thnkx for spending the time to discuss this, I feel strongly about it and love studying extra on this topic. If possible, as you change into expertise, would you mind updating your weblog with extra particulars? It's highly helpful for me. Massive thumb up for this weblog post!

  • jordan shoes
    jordan shoes Thursday, 15 February 2018 13:24 Comment Link

    The subsequent time I read a weblog, I hope that it doesnt disappoint me as much as this one. I imply, I do know it was my choice to read, however I truly thought youd have something attention-grabbing to say. All I hear is a bunch of whining about one thing that you may repair in the event you werent too busy in search of attention.

  • ultra boost
    ultra boost Thursday, 15 February 2018 04:06 Comment Link

    I have to show some appreciation to this writer for bailing me out of this type of matter. As a result of exploring throughout the world-wide-web and obtaining solutions which were not productive, I assumed my life was over. Existing devoid of the answers to the issues you've fixed through your entire report is a critical case, and ones which may have in a negative way damaged my career if I hadn't encountered the website. Your own personal natural talent and kindness in controlling all things was very useful. I'm not sure what I would have done if I had not come across such a point like this. I am able to at this moment look forward to my future. Thank you so much for your specialized and sensible guide. I won't be reluctant to recommend your web blog to any individual who wants and needs counselling about this problem.

  • chrome hearts online
    chrome hearts online Wednesday, 14 February 2018 18:09 Comment Link

    Hey! I just would like to give a huge thumbs up for the nice information you've got here on this post. I can be coming back to your blog for more soon.

  • adidas yeezy
    adidas yeezy Tuesday, 13 February 2018 21:53 Comment Link

    There are some interesting deadlines on this article but I don抰 know if I see all of them center to heart. There is some validity however I will take hold opinion till I look into it further. Good article , thanks and we want more! Added to FeedBurner as properly

  • adidas nmd r1
    adidas nmd r1 Tuesday, 13 February 2018 20:10 Comment Link

    A lot of thanks for all of your hard work on this blog. My mum take interest in setting aside time for research and it's obvious why. A number of us know all regarding the dynamic ways you present useful guides on this web blog and increase contribution from some other people on this concern and my girl is always becoming educated so much. Take advantage of the rest of the new year. You are performing a great job.

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.