हरियाणा: गीता जयंती पर फिजूलखर्ची पर बोले खट्टर,जिनको गीता का ज्ञान नहीं उनका इसपर टिप्पणी करना औछी बात...... Featured

आवाज़(विशाल चौधरी, कैथल): गीता जयंती और सरस्वती में फिजूलखर्ची के आरोपों पर मुख्यमंत्री का बड़ा बयान जिनको गीता का ज्ञान नहीं , उनकी इसपर टिप्पणी ओछी बात। मुख्यमंत्री के मुताबिक प्रदेश में सड़क, स्वास्थ्य, शिक्षा रोजगार तथा सामाजिक कल्याण के साथ साथ गीता का प्रचार प्रसार गलत नहीं है। गीता संदेश आज भी सार्थक है और सदियों तक सार्थक रहेगा। ये बातें कैथल में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सरकार के ऊपर गीता और सरस्वती के नाम पर फिजूलखर्ची का आरोप लगने के बाद कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिनको गीता का ज्ञान नहीं उनकी गीता के नाम पर फिजूलखर्ची की टिप्पणी करना ओछी बात है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री कैथल के स्थानीय पुलिस लाईन में परिवहन मंत्री श्री कृष्ण लाल पंवार द्वारा आयोजित संत शिरोमणी गुरू रविदास की 641वीं जयंती के अवसर पर एक कार्यक्रम में शिरकत करने आये थे, जहाँ उन्होंने ये बातें कहीं। वहीँ सूबे में बढ़ती बलात्कार जैसी घटनाओं पर उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण हैं। जो लोग इसमें शामिल हैं उनके खिलाफ हम सख्त कार्यवाही कर रहे है। उन्होंने कहा कि 12 साल से छोटी बच्चियों के साथ बलात्कार करने वालों के लिए मृत्यु दंड का प्रावधान किया गया है ।
 
कार्यक्रम के दौरान महान संत गुरू रविदास की जयंती के साथ-साथ लाला लाजपत राय को भी याद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका जन्म संयुक्त पंजाब में हुआ था, जिन्होंने आजादी के संघर्ष में भाग लिया था। ऐसे महापुरूषों के जीवन व बलिदान से हमे प्रेरणा मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने इन महान संतों को सम्मान देते हुए उनके पद चिन्हों पर चलते हुए जयंती सरकारी तौर पर मनाने का फैसला किया है।
 
वहीँ इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कैथल की जनता को 50 करोड़ रुपए की 16 विकास परियोजनाओं का तोहफा दिया । हालांकि मुख्यमंत्री द्वारा विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यासो पर सांसद राज कुमार सैनी का नाम भी अंकित था लेकिन उनकी अनुपस्थिति में मुख्यमंत्री और परिवहन मंत्री ने इन सभी परियोजनाओं के शिलान्यास कर  दिया गया। इस ,मौके पर राजकुमार सैनी का अनुपस्थित रहना कई सवाल खड़े कर गया.
 
 
Rate this item
(2 votes)

Latest from Super User

4 comments

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.