हरियाणा: बदलते सियासी समीकरणों के बीच कुलदीप बिशनोई ने की राहुल गाँधी से मुलाकात, आखिर क्या हैं इस मुलाकात के मायने.....

23 Jan 2018
1059 times

आवाज़(रेखा राव, दिल्ली): कुलदीप बिशनोई कि जब से कांग्रेस में वापसी हुई है तब से ऐसे कयास लगाये जा रहे हैं कि वो जल्द ही हरियाणा कांग्रेस की राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते दिखेंगे, लेकिन कुलदीप अपना एक-एक कदम फूंक-फूंक कर रख रहे हैं. प्रदेश कांग्रेस में जहाँ हुड्डा और तंवर खेमे में गुटबाजी साफ़ तौर पर दिखाई दे रही है दोनों एक दूसरे को मात देने में नित नई तैयारियां कर रहे हैं वहीँ कुलदीप बिशनोई चुपचाप हर राजनितिक गतिविधि पर नजर बनाये हुए तमाशा देख रहे हैं. अभी हालिया हिसार में हुए कांग्रेस के कार्यक्रमों से भी कुलदीप ने दूरी बनाई राखी और उनकी तरफ से ऐसा कहा गया कि उन्हें किसी कार्यक्रम के लिए निमन्त्रण नही भेजा गया. मतलब साफ़ है वो किसी भी गुट का हिस्सा नहीं बनना चाहते. यानी राजनीति सधी हुई है और सोच दूर की. और कहते भी हैं कि दो बिल्लियों कि लड़ाई में फायदा किसी तीसरे का ही होता है.

इस बीच 22 जनवरी यानी पिछले कल ये खबर आई कि कुलदीप बिशनोई ने 12 तुगलक लेन स्थित राहुल गाँधी से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की. लगभग 50 मिनट तक चली इस मुलाकात में कुलदीप बिश्नोई ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ प्रदेश के वर्तमान राजनीतिक हालातों, हरियाणा की भाजपा सरकार की विफलताओं तथा राज्य में बढ़ रहे क्राईम पर विस्तार से चर्चा की। जानकारों कि मानें तो इस मुलाकात के कई मायने हैं. जहाँ राहुल को कुलदीप ने हरियाणा के सियासी हालत कि जानकारी दी वहीँ उन्होंने राहुल को जल्द हरियाणा आने का न्योता भी दिया.

सूत्रों कि मानें तो कुलदीप बिश्नोई ने राहुल गांधी को बताया कि हरियाणा की खट्टर सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है ऐसे में कांग्रेस के लिए माहौल अनुकूल है बशर्ते कांग्रेस एक होकर प्रयास करे. गुटबाजी छोडकर अगर सभी बड़े नेता पार्टी को सशक्त करने कि दिशा में प्रयास करें तो 2019 के लोकसभा चुनाव के नतीजे कांग्रेस के पक्ष में होंगे. वहीँ कुलदीप बिशनोई द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक भी उन्होंने राहुल गाँधी को सूबे की हालत कि जानकारी दी. कुलदीप ने राहुल को बताया कि सूबे के लोग कांग्रेस की तरफ उम्मीद भरी नजरों से देख रहे हैं. राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर होती जा रही है. छोटी-छोटी बच्चियों से दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं, जिन पर लगाम कसने में भाजपा सरकार असफल साबित हो रही है. उन्होंने राहुल को आंकड़ों का हवाला देते हुए बताया कि नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो की हरियाणा को लेकर हाल में आई रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा में साल 2016 के दौरान प्रदेश में सामूहिक दुष्कर्म की 191 घटनाएं हुई थीं. राष्ट्रीय स्तर पर सामूहिक दुष्कर्म की औसत जहां महज 0.3 फीसदी है वहीं सूबे में यह औसत 1.5 फीसदी है. पिछले साल हरियाणा में दुष्कर्म के कुल 1189 केस दर्ज किए गए थे. जिनमें से करीब 44 फीसदी अथवा करीब 518 घटनाओं में पीड़ितों की उम्र 18 साल से कम रही है. जनवरी माह में ही अभी तक हरियाणा के विभिन्न क्षेत्रों में दो दर्जन से अधिक दुष्कर्म, सामूहिक दुष्कर्म की घटनाएं हो चुकी हैं. 

मतलब साफ़ है, जहाँ हरियाणा कांग्रेस में गुटबाजी अपने चरम पर है, तंवर और हुड्डा खेमा एक दूसरे को मात देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा ऐसे में कुलदीप बिशनोई का चुपचाप पार्टी के लिए काम करना और वो भी बिना कोई नया गुट बनाये अपने आप में काफी कुछ कहता है. वैसे भी कुलदीप बिशनोई कि गाँधी परिवार से करीबियां किसी से छुपी हुई नहीं हैं. ऐसे में राहुल गाँधी से मुलाकात के कई मायने निकलते हैं. अब आने वाले समय में ये मुलाकात क्या गुल खिलाती है ये तो वक़्त ही बतायेगा लेकिन इतना साफ़ है कि राजनीति के माहिर खिलाड़ी कुलदीप निश्चित तौर पर कुछ ऐसा करने जा रहे हैं जिसका असर हरियाणा कि राजनीति में देखने को मिलेगा.

 
Rate this item
(0 votes)

Error : Please select some lists in your AcyMailing module configuration for the field "Automatically subscribe to" and make sure the selected lists are enabled

Photo Gallery