Items filtered by date: Monday, 28 May 2018

आवाज़(रेखा राव, गुरुग्राम): मोदी सरकार में राज्य मंत्री और हरियाणा के कद्दावर नेता राव इंदरजीत की सूबे के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से कई मुद्दों पर अन-बन की ख़बरें कोई नई खबर नहीं है, लेकिन इस बार केन्द्रीय मंत्री खट्टर से इस कदर नाराज़ हुए कि उन्होंने भरी सभा में ही खट्टर को आड़े-हाथों लेते हुए जमकर फटकार लगा दी.  दरअसल मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में राव इंद्रजीत ने खट्टर की लेट-लतीफी पर उन्हें फटकार लगाते हुए कहा कि 2019 के चुनाव में आपकी सरकार से मदद की कोई उम्मीद नहीं हैं.

राव इंद्रजीत सिंह ने कहा, 'मुझे कोई खास उम्मीद नहीं है कि आपकी सरकार चुनाव में सांसदों की मदद करेगी. जो हीरो होंडा चौक का उद्घाटन होना था वो मैं अपनी तरफ से कर आया, फीता काटना ही बाकी रह गया है, वो आप जाकर कर आईये. आपने टाइम दिया था आप नहीं पहुंचे, मैं होकर आ गया. आपके पास निजी सचिव हैं, आप फोन कर देते. किसी को तो खबर करनी चाहिए कि हम वहां खड़े रहें. केंद्र सरकार का कार्यक्रम हो, केंद्र का पैसा लग रहा हो और हम घूमकर चले जाएं, यह हम नहीं करेंगे.'

गुरुग्राम से सांसद इंद्रजीत सिंह यहीं नहीं रुके, उन्होंने मनोहर लाल खट्टर को संबोधित करते हुए यह तक कह दिया कि बेहतर यही है अगली बार आपको आमंत्रित ही न किया जाए. केंद्रीय मंत्री गडकरी से अनुरोध करते हुए राव इंद्रजीत ने कहा कि अगली बार से ऐसे कार्यक्रम में केंद्र का मंत्री उपस्थित होना चाहिए. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के अलावा प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला और कई वरिष्ठ नेता और राज्य सरकार के मंत्री मौजूद थे. इंद्रजीत सिंह के बयान पर जब खट्टर से प्रतिक्रिया मांगी गई तो वो काफी असहज नजर आए. हालांकि अपनी लेट-लतीफी पर लीपा-पोती करते हुए खट्टर ने कहा कि वह इंद्रजीत सिंह की बेबाकी के कायल हैं, उनके दिल में जो था कह दिया. ये सब तो घर की बात है.

गौरतलब है कि राव इंदरजीत इससे पहले भी खट्टर को आड़े-हाथों ले चुके हैं. एक बार उन्होंने रेवाड़ी में ये तक कह दिया था कि जिन उम्मीदों पर दक्षिण हरियाणा के लोगों ने बीजेपी की सरकार बनाई थी खट्टर उनपर ज़रा भी खरे नहीं उतर पाए. बीजेपी के कार्यकर्ता और हम किस मुंह से अगली बार वोट मांगने जायेंगे. इस बार खट्टर ने फिर राव इंदरजीत का दिल दुखाया और राव इंदरजीत फिर भरी सभा में खट्टर को आड़े-हाथों ले लिया. दरअसल राव इंदरजीत की ये बेचैनी जायज़ भी लगती है क्योंकि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान जब मैंने राव इंदरजीत से बात की थी तो उन्होंने  सूबे में बीजेपी की सरकार आने के बाद दक्षिण हरियाणा को विकास की दृष्टि से अव्वल बनाने की बात कही थी. इतना ही नहीं उन्होंने भरी सभा में रेवाड़ी को सिंगापूर बनाने की बात कही थी लेकिन सरकार बनने के बाद दक्षिण हरियाणा के प्रति खटार सरकार का उदासीन रवैया देखने को मिला जिससे कार्यकर्ता और खुद राव इंदरजीत  उनसे बहुत नाराज़ चल रहे हैं.(इनपुट: आजतक)

 
Published in हरियाणा