लोग वीफ खाना छोड़ दें तो अपने आप रुक जाएगा भीड़ का कत्ले-आम : इंद्रेश कुमार

24 Jul 2018
212 times

आवाज़(मुकेश शर्मा, दिल्ली): देश भर में मोब-लिंचिंग की घटनाएं रुकने का नाम ही नहीं ले रही हैं. राजस्थान के अलवर से शुरू हुआ ये विवाद अब पूरे देश में अपने पांव पसार रहा है. इसी बीच राष्ट्रिय स्वयं सेवक संघ के एक बड़े नेता इन्द्रेश कुमार ने मोब लिंचिंग को लेकर एक बड़ा ब्यान दिया है जिसपर राजनीति होना तय है. इन्द्रेश ने अपने एक ज्ञान में कहा है कि अगर लोग वीफ खाना छोड़ दें तो इस तरह की घटनाएं अपने आप रुक जायेंगी. साथ ही संघ नेता ने ऐसी समस्या से निपटने के लिए संस्कार और सामाजिक मूल्यों की भूमिका को भी प्रमुख बताया है. 

इन्द्रेश कुमार ने कहा की मोब लिंचिंग जैसी घटनाओं को किसी भी तरह से स्वीकार नहीं किया जा सकता. लेकिन अगर लोग गौ-मांस खाना छोड़ दें तो इस तरह की घटनाएं अपने आप रुक जायेंगी. इन्द्रेश ने कहा कि किसी भी धर्म में गौ-मांस को खाने की इजाज़त नहीं है. इन्द्रेश की मानें तो ईसाई धर्म में भी गौ-मांस खाने की मनाही है क्योंकि जीसस का जन्म गौ-शाला में हुआ था जिसके कारण ईसाई लोग भी गाय को पवित्र मानते हैं. साथ ही मुस्लिमों के पवित्र स्थल मक्का-मदीना में भी गाय की हत्या पर रोक है. यानी संसार में कहीं भी किसी भी धर्म में गाय को मारने की अनुमति नहीं दी गई है. गाय को समस्त धर्म पवित्र मानते हैं. ऐसे में लोगों को चाहिए कि वो जनभावनाओं को समझें और गाय की हत्या न करें.

वहीँ इन्द्रेश कुमार ने ऐसे मामलों में कानून और सरकार की भूमिका को भी स्पष्ट किया. उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में क़ानून को अपना काम करना चाहिए और सरकार को भी बिना किसी दवाब में आए अपनी जिम्मेवारी निभानी चाहिए. साथ ही समाज को भी ऐसे मूल्यों को अपनाना चाहिए जिससे इस तरह की घटनाएं ही न हों. गौरतलब है कि इंद्रेश कुमार झारखण्ड के रांची में हिन्दू जागरण मंच की इकाई के कार्यालय के उदघाटन के अवसर पर पहुंचे थे जहाँ उन्होंने ये बात कही.

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User