RSS स्वयंसेवकों को सम्बोधित कर सकते हैं पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, आधिकारिक घोषणा का हो रहा है इंतजार.......!

27 May 2018
2312 times

आवाज़(मुकेश शर्मा, दिल्ली): भारत के पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के दिग्गज़ नेता प्रणव मुखर्जी 7 जून को होने वाली आर एस एस कार्यकर्ताओं की अहम बैठक को सम्बोधित कर सकते हैं. टाइम्स ऑफ़ इंडिया की मानें तो आर एस एस ने 7 जून को अंतिम वर्ष के स्वयंसेवकों के विदाई संबोधन के लिए देश के पूर्व राष्ट्रपति और दिग्गज कांग्रेसी रहे प्रणव मुखर्जी को आमंत्रित किया है. इस दौरान आर एस एस के लगभग 800 स्वयमसेवक मौजूद रहेंगे. आर एस एस के मुख्यालय नागपुर में हर वर्ष इस तरह का कार्यक्रम होता है. पहले इस कार्यक्रम का नाम ऑफिसर ट्रेनिंग कोर्स था जबकि अब इसका नाम बदलकर संघ शिक्षा वर्ग रख दिया गया है. इस कोर्स को पास करने के बाद स्वयमसेवक पूर्ण कालिक प्रचारक बन जाते हैं और वो पूरे देश में संघ की विचारधारा का प्रचार-प्रसार करते हैं.

खबर में ख़ास बात ये है कि आर एस एस और कांग्रेस की विचारधारा हमेशा से ही पूर्व और पश्चिम वाली रही है. ऐसे में जैसे ही ये खबर आई कि प्रणव दा आर एस एस स्वयंसेवकों को सम्बोधित करेंगे तब से राजनितिक गलिआरों में खलबली मच गई है. दरअसल प्रणव मुखर्जी 1969 के दशक से कांग्रेसी रहे हैं जिन्हें देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का सबसे करीबी माना जाता रहा है. कांग्रेसी सरकारों में उन्हें वरिष्ठ मंत्री का दर्ज़ा मिला है और इतना ही नहीं एक समय उन्हें कांग्रेस की तरफ से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार भी माना जाता था. या यों भी कह सकते हैं कि वो कांग्रेस के संकटमोचक भी रहे हैं. जब भी कांग्रेस कहीं फंसती दिखी तो उन्होंने मोर्चा सम्भाला और साड़ी उलझनों को पल में सुलझा दिया. मनमोहन सरकार में वो देश के वित्त मंत्री रहे और उसके बाद 2012 से लेकर 2017 तक वो देश के 13वें राष्ट्रपति रहे. प्रणव मुखर्जी एक ऐसी शख्सियत का नाम हैं जो हमेशा पूरे देश के लिए प्रेरणा का स्त्रोत रहे हैं. पक्ष और विपक्ष हमेशा से उनकी इज्ज़त करता आया है. ऐसे में ऐसी शख्सियत का आर एस एस स्व्यम्सेवकों को सम्बोधित करने जाने का मतलब कई बातें कहता है.

हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि क्या वाकई प्रणव मुखर्जी स्वयं सेवकों को सम्बोधित करेंगे लेकिन टाइम्स ऑफ़ इंडिया और जनसत्ता की मानें तो आरएसएस के सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि प्रणव मुखर्जी को इस बाबत न्योता भेजा गया है, और उचित समय आने पर इस बात की आधिकारिक घोषणा भी कर दी जायेगी. 

 

Rate this item
(0 votes)

Error : Please select some lists in your AcyMailing module configuration for the field "Automatically subscribe to" and make sure the selected lists are enabled

Photo Gallery