कांग्रेस में नए युग की शुरुआत,राहुल गाँधी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए किया नामाकन Featured

04 Dec 2017
51414 times

आवाज्(मुकेश शर्मा, दिल्ली): आज उन तमाम कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के लिए बड़ा दिन है जो गाँधी परिवार में आस्था रखते हैं. जो हमेशा कांग्रेस की बागडोर गाँधी परिवार के हाथ में ही देना चाहते हैं. या यों कहें कि लोकतान्त्रिक मर्यादाओं के साथ-साथ जिनके लिए गांधी परिवार के लिए आस्था मायने रखती है उन सभी के लिए बड़ा दिन है, क्योंकि आज कांग्रेस का अध्यक्ष पद गाँधी परिवार की एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी के हाथों में जाना लगभग तय हो जाएगा. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को यानी आज कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी अध्यक्ष पद के लिए पर्चा भर दिया है. मौका बड़ा है तो इस मौके पर पार्टी के तमाम दिग्गज नेता भी मौजूद रहे. इस दौरान उनके साथ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे.

पहले सेट के लिए ये नेता बने प्रस्तावक

राहुल गांधी के लिए पहले सेट के लिए कांग्रेस नेता अहमद पटेल, पुडुचेरी नारायण सामी, पूर्व दिल्ली सीएम शीला दीक्षित, मोतीलाल वोरा, कमलनाथ, मोहसिना किदवई, तरुण गोगोई और अशोक गहलोत प्रस्तावक बने.

नामांकन से पहले सोनिया-मनमोहन-प्रणब से मुलाकात

नामांकन करने से पहले राहुल ने अपनी मां सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की. गुजरात विधानसभा में कांग्रेस की वापसी की राह देख रहे कार्यकर्ताओं में वोटिंग से ठीक पहले नया जोश भर सकता है. यह लगभग दो दशक बाद है, जब कांग्रेस पार्टी को उसका नया पार्टी अध्यक्ष बनेगा. इस मौके पर पार्टी दफ्तर पर कांग्रेस के आला नेताओं का जमावड़ा लगा रहा. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, राजीव शुक्ला, कर्ण सिंह समेत पार्टी का लगभग हर बड़ा नेता वहां मौजूद रहा.

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुक्रवार को शुरू हुई थी, और नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 4 दिसंबर है. ऐसे में आज राहुल गाँधी अध्यक्ष पद के लिए नामाकन करने जा रहे हैं और संभावना इसी बात की है कि कांग्रेस की और से कोई और प्रत्याशी इस पद के लिए नामांकन नहीं करेगा. अगर नामाकन कोई और नहीं करेगा तो फिर चुनाव की नौबत भी नहीं आएगी. तो फिर ऐसी स्थिति में नामांकन पत्रों की जांच के बाद पांच दिसम्बर यानी कल राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष घोषित किया जा सकता है. यहाँ एक बात  और गौर करने लायक है कि राहुल गाँधी अपनी मां सोनिया गांधी की जगह लेंगे जो 1998 से कांग्रेस अध्यक्ष हैं. सोनिया गांधी ने कांग्रेस के इतिहास में सर्वाधिक लंबे समय तक अध्यक्ष पद संभाला है.

 

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User