आसाराम को सजाए-उम्र-कैद, सज़ा का ऐलान सुनते ही फूट-फूट कर रोया बलात्कारी बापू....... Featured

25 Apr 2018
168 times

आवाज़(रेखा राव, दिल्ली): देश के बहुचर्चित आसाराम केस में आज जोधपुर कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया. नाबालिग से बलात्कार मामले में कोर्ट ने आसाराम को दोषी करार देते हुए उसे पचास हज़ार रुपए के जुर्माने के साथ उम्र कैद की सजा सुनाई गई है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि दोषी आखिरी सांस तक जेल में ही रहेगा. मतलब आसाराम जब तक जिंदा रहेगा, उसे जेल में ही रहना होगा.  सूत्रों की मानें तो जिस समय आसाराम को कोर्ट ने सजा सुनाई, वह टूट गया और फूट-फूट कर रोने लगा. दरअसल कोर्ट रूम में पत्रकारों को जाने की अनुमति नहीं थी. हालांकि, मीडिया चैनलों ने वहां मौजूद एक शख्स के हवाले से बताया कि आसाराम को जब उम्र कैद की सजा सुनाई गई, वह कोर्ट में ही रो पड़ा. कोर्ट ने अन्य आरोपियों को 20-20 साल की सजा सुनाई है.

सूत्रों की मानें तो आसाराम के वकीलों ने उसे कम से कम सजा देने की कोर्ट से गुहार लगाईं. उन्होंने जज के समक्ष दलील दी कि उसकी उम्र ज्यादा हो गई है. वह संत रहा है, और आपराधिक प्रवृत्ति का इंसान नहीं है. इसके अलावा आसाराम के देश और दुनिया भर में करोड़ों अनुयायी हैं.  इसलिए उसे कम सजा दी जाए, लेकिन कोर्ट ने बचाव पक्ष की किसी भी दलील को नहीं माना. कोर्ट ने माना कि आसाराम का अपराध इन सब से ऊपर है. जनसत्ता की मानें तो एक पत्रकार ने जब पूछा कि आसाराम की हमेशा आदत रही है कि कोर्ट में वह ड्रामा करता है. इस पर शख्स ने कहा कि वह ड्रामा करने की स्थिति में नहीं था, क्योंकि जज जब फैसला सुना देते हैं तो वह आखिरी होता है. इसके बाद कोर्ट रूम से जज साहब चले जाते हैं. यानी अपने आप को भगवान होने का दावा करने वाले आसाराम आज अपने किसी भी ड्रामे से खुद को सजा मिलने से नहीं बचा पाए और ये फिर से साबित हुआ कि चाहे व्यक्ति कितना भी पावरफुल क्यों न हो क़ानून के आगे सब अपराधी बोने साबित होते हैं और अपने अंजाम तक पहुँचते हैं.

अब जब आसाराम दोषी साबित हो गया है तो उसे जेल के नियम क़ानून का पालन करते हुए सारे काम करने पड़ेंगे, क्योंकि जबतक कोई भी व्यक्ति न्यायिक हिरासत में होता है तो उससे कोई काम नहीं करवाया जाता है. यानी कलयुगी बापू को अब जेल का सुप्रीम अधिकारी जो काम आसाराम को देगा, वो उसे करना होगा. वहीँ दूसरी तरफ, आसाराम को दोषी करार दिए जाने के बाद पीड़िता के पिता ने कहा, “आसाराम दोषी करार दिए गए. हमें इंसाफ मिला है. इस लड़ाई में हमारा साथ देने वाले सभी लोगों को हम धन्यवाद देते हैं.”

वहीं, आसाराम के वकील से जब आजतक के रिपोर्टर ने बात की तो उन्होंने इस फैसले पर अपनी नाखुशी जताई. जबकि आसाराम के प्रवक्ता ने कहा कि हम आगे की कार्रवाई के लिए अपनी लीगल टीम से चर्चा कर रहे हैं. हमें न्याय व्यवस्था पर पूरा विश्वास है. आगे जोभी उचित कदम होगा हम उठायेंगे.

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User