पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने बढ़ाई भारतीय लोकतंत्र की शान, संघ संस्थापक हेडगेवार को बताया "भारत माँ का महान सपूत"....... Featured

07 Jun 2018
191 times

आवाज़(मुकेश शर्मा, दिल्ली): आज देश के पूर्व राष्ट्रपति संघ के बुलावे पर आर एस एस के मुख्यालय नागपुर में बतौर मुख्य अतिथि मौजूद हैं जहाँ वो आर एस एस के एक कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं. देश में चर्चाओं और अफवाहों का दौर जारी है सबकी नजरें इस बात पर टिकी हैं कि दादा आज अपने सम्बोधन में क्या बोलेंगे. राष्ट्रपति बनाने से पहले उम्र भर एक कांग्रेसी रहे प्रणव मुखर्जी जब आर एस एस मुख्यालय पहुंचे तो सबसे पहले संघ प्रमुख मोहन भागवत ने उनका फूल भेंट करके स्वागत किया. उसके बाद दोनों नेता संघ संस्थापक के बी हेडगेवार के जन्मस्थान गये और वहां पूर्व राष्ट्रपति ने उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये. यहाँ की विजिटर बुक में दादा ने हेडगेवार को "भारत माँ का महान सपूत" लिखा.

देश भर में पूर्व राष्ट्रपति के इस दौरे को लेकर उत्सुकता और जिज्ञासा है और हर कोई ये जानना चाहता है कि दादा अपने सम्बोधन में क्या बोलते हैं.राजनितिक पार्टियों में गर्मागर्मी का दौर जारी है. कांग्रेस जहाँ इस दौरे पर कुछ भी बोलने से बच रही है वहीँ देश के कुछ अपरिपक्व नेता दादा के ऊपर ही सवाल उठा रहे हैं. लेकिन आवाज़ न्यूज़ नेटवर्क की साफ़ राय है कि दादा ने संघ का निमन्त्रण स्वीकार करके भारतीय लोकतंत्र की शान बढ़ाई है. देश में संवाद का दौर कभी समाप्त नहीं होना चाहिए. दादा हम आपके इस जज़्बे की कद्र करते हैं. साथ ही आपके इस निर्णय को भी नमन करते हैं इस देश में सही मायनों में आप जैसे ही कुछ लोग लोकतंत्र को समझते हैं और इस तरह के कार्यक्रम में जाकर आपने भारतीय लोकतंत्र की शान बढ़ाई है. आपको हृदय से नमन.....

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User