गणतंत्र दिवस परेड: नए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल को छठी पंक्ति में मिली सीट, पहली पंक्ति में बैठती थीं सोनिया, कांग्रेस ने बताया अपमान.......

26 Jan 2018
3884 times

आवाज़(मुकेश शर्मा, दिल्ली): अक्सर देखा गया है कि गणतंत्र दिवस परेड के दौरान देश के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस अध्यक्ष को पहली पंक्ति में बैठने के लिए सीट मिलती थी, लेकिन इस बार नज़ारा कुछ बदला-बदला है. पहले तो इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चौथी पंक्ति में बैठने के लिए सीट दी गई थी, लेकिन विवाद के बाद कांग्रेस अध्यक्ष की सीट छठी पंक्ति में कर दी गई है. इसलिए राहुल गांधी ने शुक्रवार (26 जनवरी) को छठी पंक्ति में बैठकर परेड़ का दीदार किया.

कांग्रेस को ये बात हजम नहीं हुई और इस मुद्दे पर कांग्रेस ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह प्रोटोकॉल का उल्लंघन है. कांग्रेस ने इसे पार्टी और पार्टी अध्यक्ष को ‘नीचा’ दिखाने के लिए ऐसा किया गया है. कांग्रेस का कहना है कि पारंपरिक रूप से गणतंत्र दिवस समारोह में कांग्रेस अध्यक्ष को पिछले वर्ष तक पहली पंक्ति में बैठने की जगह दी जाती रही है. कांग्रेस के एक सूत्र ने  बताया, “हां, हमें पता चला है कि राहुल गांधी को गणतंत्र दिवस समारोह में चौथी पंक्ति में जगह दी गई है. यह काफी ओछी हरकत है।” उन्होंने कहा कि राहुल को चौथी पंक्ति में जगह ‘सरकार के कहने पर दी गई है क्योंकि अधिकारी खुद यह निर्णय नहीं ले सकते.’ जब यह खबर मीडिया में लीक हुई तो इसके बाद पार्टी नेताओं को पता चला कि कांग्रेस अध्यक्ष के सीट को और भी पीछे कर छठी पंक्ति में कर दिया है.

कांग्रेस ने कहा है कि यह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार का तरीका है, वे लोग आसियान नेता और भारत के लोगों के सामने कांग्रेस पार्टी और इसके अध्यक्ष को नीचा दिखाना चाहते हैं. इस तरह वह यह बताना चाहते हैं कि वह (राहुल) और कांग्रेस पार्टी की कोई अहमियत नहीं रह गई है. दरअसल इस साल 26 जनवरी के मौके पर भारत की सरकार ने आसियान देशों के प्रमुख को आमंत्रित किया है. बीजेपी ने दलील दी थी कि इस बार आसियान नेता गणतंत्र दिवस समारोह में शिरकत क्र रहे हैं इसलिए राहुल को पहली पंक्ति में जगह नहीं मिल पाई है, क्योंकि आगे कि पंक्तियाँ विदेशी मेहमानों के लिए रिज़र्व हैं.

बहरहाल बीजेपी जहाँ इस मुद्दे पर बेवजह बता रही है वहीँ कांग्रेस इसे अपने मान-सम्मान से जोडकर देख रही है. तल्खी दोनों तरफ है और आगे चलकर इसके और बढ़ने के आसार हैं क्योंकि इतना तो तय है कि जैसे-जैसे 2019 नज़दीक आएगा तो जुबानी जंग और बढ़ेगी.

 

Rate this item
(0 votes)