अगर उत्तर कोरिया ने धमकी दी तो उसका नामोनिशान मिटा देगा अमेरिका: डोनाल्ड ट्रंप

19 Sep 2017
31284 times

आवाज़ ब्यूरो(दिल्ली): अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में कहा कि उत्तर कोरिया अपने लोगों और शासन के लिए एक आत्मघाती मिशन पर है। अगर उसने अमेरिका को डराया तो हमें उसे पूरी तरह नेस्तनाबूत करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सभी देशों को तब तक साथ काम करना चाहिए, जब तक उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन अपना दुश्मनी भरा रवैया नहीं छोड़ देते। उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों से पूरे विश्व को खतरा है, जिससे मानव जीवन को भारी नुकसान पहुंच सकता है। मजाक उड़ाते हुए उन्होंने किम जोंग को ‘रॉकेट मैन’ बताया। 75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा में उन्होंने सदस्य देशों से कहा कि या तो वे उत्तर कोरिया पर परमाणु हथियारों को छोड़ने का दबाव बनाएं, वरना अमेरिका को इसमें दखल देना पडे़गा।

उन्होंने कहा, रॉकेट मैन खुद के लिए और अपने शासन के लिए एक आत्मघाती मिशन पर है। अगर उन्होंने अमेरिका को डराया तो हमें उत्तर कोरिया का पूरी तरह नामोनिशान मिटाना पड़ेगा। उन्होंने कहा, अमेरिका ने हमेशा धैर्य और साहस का परिचय दिया है, लेकिन अगर अमेरिका को अपनी और सहयोगियों की रक्षा करने के लिए मजबूर किया गया तो हमें बेहद सख्त कदम उठाने होंगे। ट्रंप के इस बयान को उत्तर कोरिया के लिए चेतावनी के रूप में देखा जा रहा है, जिसने हाल ही में अपनी इंटर बैलिस्टिक मिसाइल और न्यूक्लियर टेस्ट के लिए पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया था। संयुक्त राष्ट्र में ट्रंप ने परमाणु हथियारों से लैस ‘बदमाश देशों’ आतंकियों और चरमपंथियों से खतरे पर भी बात कही। उन्होंने कहा कि ये देश सिर्फ आतंकियों का समर्थन ही नहीं करते बल्कि दूसरे देशों को परमाणु हथियारों की धमकी भी देते हैं।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने शुक्रवार (15 सितंबर) को उत्तरी जापान के द्वीप होकाइडो के ऊपर से एक मिसाइल का परीक्षण किया था। इससे एक दिन पहले उत्तर कोरिया ने धमकी दी थी कि जापान के चार प्रमुख द्वीपों को “परमाणु बम से समंदर में डुबो देना चाहिए।” इसके बाद अमेरिका ने इसका जवाब देते हुए उत्तर कोरिया को ऊपर से लड़ाकू विमान उड़ाए थे।(सौजन्य: जनसत्ता)

Rate this item
(0 votes)