सरकार ने उपभोक्ताओं से कहा, फास्ट फूड पैकेटों से कूड़ा फैलाना बंद करें

सरकार ने फास्ट फूड पैकेटों से फैलने वाली गंदगी पर चिंता जताई है। उपभोक्ता मामलों के सचिव जे पी मीणा ने आज कहा कि शहर को साफ रखना सिर्फ सफाई कर्मियों का काम नहीं है, बल्कि 1.2 अरब उपभोक्ताओं को भी इसके लिए जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

उपभोक्ताओं को भी देना होगा सफाई में योगदान
उन्होंने कहा कि साफ सफाई अकेले सरकारी योजनाओं से लागू नहीं हो सकती, उपभोक्ताओं को भी इसमें योगदान करना होगा। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता मामलों का मंत्रालय रेडिया और टेलीविजन पर ‘जागो ग्राहक जागो’ जैसे विज्ञापनों के जरिए ग्राहकों को जागरूक कर रहा है। मीणा ने अपने मंत्रालय के स्वच्छता कार्यक्रम के मौके पर मीडिया से बातचीत में कहा, ‘‘फास्ट फूड पैकेट के जरिए कूड़ा कचरा हमारे लिए चिंता की बात है। हम उपभोक्ताओं को इस मुद्दे पर जागरूक करने का प्रयास कर रहे हैं। शहर को साफ सुथरा रखना सिर्फ सफाई कर्मियों का काम नहीं है। उपभोक्ताओं को भी इसमें योगदान देना होगा।

फैलाई जा रही है जागरूकता
सरकार के स्वच्छ भारत अभियान के तहत उपभोक्ता मामलों का मंत्रालय और अन्य मंत्रालय साफ सफाई अभियान चला रहे हैं। मीणा ने कहा कि इसका मकसद स्वच्छता के प्रति जागरूकता का प्रसार है। साफ सफाई अभियान में उपभोक्ताओं को प्रमुख भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि इस दिशा में कई तरह की गतिविधियां चलाई जा रही हैं। नुक्कड़ नाटकों का आयोजन किया जा रहा है। पुरानी फाइलों को हटाने का काम चल रहा है। 

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User

320 comments

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.